भारतकोश के संस्थापक/संपादक के फ़ेसबुक लाइव के लिए यहाँ क्लिक करें।

उखड़ पड़ना  

व्यवस्थापन (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 17:37, 20 अप्रॅल 2018 का अवतरण (Text replacement - "{{कहावत लोकोक्ति मुहावरे}}" to "{{कहावत लोकोक्ति मुहावरे}}{{कहावत लोकोक्ति मुहावरे2}}")

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

उखड़ पड़ना एक प्रचलित लोकोक्ति अथवा हिन्दी मुहावरा है ।

अर्थ -क्रोधाभिभूत होकर बकने लगना।

प्रयोग - वह जो हमारी घर में है न कुछ अजीब सी हो रही है जब तब वह तड़प झड़प वह चीख वह बात-बात पर उखड़ पड़ना कि बस

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

कहावत लोकोक्ति मुहावरे वर्णमाला क्रमानुसार खोजें

                              अं                                                                                              क्ष    त्र    श्र

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=उखड़_पड़ना&oldid=623849" से लिया गया