अंग मोड़ना  

अंग मोड़ना एक प्रचलित हिन्दी मुहावरा है।

अर्थ -

1. शरीर के भागों को सिकोड़ना, लज्जा से देह छिपाना।

2. अंगड़ाई लेना।

प्रयोग - लज्जा के कारण उसने 'अंग मोड़' लिया।

उदाहरण - "अंगन मोरति भोर उठी छिति पूरति अंग सुगंध झकोरन।"[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. व्यंगार्थ कौमुदी

संबंधित लेख

कहावत लोकोक्ति मुहावरे वर्णमाला क्रमानुसार खोजें

                              अं                                                                                              क्ष    त्र    श्र

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अंग_मोड़ना&oldid=638402" से लिया गया