एक्स्प्रेशन त्रुटि: अनपेक्षित उद्गार चिन्ह "२"।

आसन डिगना

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें

आसन डिगना एक प्रचलित लोकोक्ति अथवा हिन्दी मुहावरा है।

अर्थ- गद्दी, पद आदि से हटने या हटाए जाने की स्थिति उत्पन्न होना ।

प्रयोग-

  1. दल-बदलओं के इस युग में किसी का आसन डोलते क्या देर लगती है। - (दिनमान)
  2. मगर, यहाँ मदन-दहन हो गया किसी देवता का आसन नहीं डोला। - (राजा राधिका रमण प्रसाद सिहं)


टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

कहावत लोकोक्ति मुहावरे वर्णमाला क्रमानुसार खोजें

                              अं                                                                                              क्ष    त्र    श्र