भारतकोश के संस्थापक/संपादक के फ़ेसबुक लाइव के लिए यहाँ क्लिक करें।

इन्सैट-2सी उपग्रह  

इन्सैट-2सी के द्वारा उत्तरपूर्वी और अंडमान तथा निकोबार द्वीपसमूहों जैसे सुदूर क्षेत्रों में संचार सुविधाओं को सुधारने के लिए चार सी-बैंड प्रेषानुकरों की शक्ति बढ़ाई गई। अन्य दो सी-बैंड प्रेषानुकरों के कवरेज को विस्तृत किया गया ताकि दक्षिणपूर्वी एशिया, केंद्रीय एशिया और पश्चिमी एशिया के हिस्सों को शामिल किया जा सके।

मिशन संचार
भार 946 कि.ग्रा. शुष्क भार नोदकों सहित 2106 कि.ग्रा.
ऑनबोर्ड पॉवर 1320 वॉट्स
संचार सी विस्तृत सी, एस और केयू बैंड
स्थिरीकरण दो संवेग चक्र और एक अभिक्रिया चक्र, चुंबकीय आघूर्णकों सहित तीन अक्षीय स्थिरीकृत
नोदन सोलह 22एन थ्रस्टरों और 440एन एलएएम सहित समेकित द्विप्रणोदक प्रणाली (एमएमएच और एन2ओ4)
नीतभार प्रेषानुकर:

16 सी-बैंड/विस्तृत सी-बैंड प्रेषानुकर (एफएसएस के लिए),
2 उच्च शक्ति सी-बैंड प्रेषानुकर (बीएसएस के लिए),
1 एस-बैंड प्रेषानुकर (बीएसएस के लिए), 1 सी/एस-बैंड मोबाइल
संचार प्रेषानुकर, 3 केयू-बैंड प्रेषानुकर

प्रमोचन दिनांक 7 दिसंबर, 1995
प्रमोचन स्थल फ़्रेंच गियाना
प्रमोचन यान एरियाने 4
कक्षा भू-स्थिर 93.5 डिग्री पू.
आनति 0 डिग्री
मिशन कालावधि सात वर्ष (नामीय)
कक्षा कालावधि दीर्घ काल


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=इन्सैट-2सी_उपग्रह&oldid=286375" से लिया गया