एक लड़की सोचती है -रोहित ठाकुर  

Icon-edit.gif यह लेख स्वतंत्र लेखन श्रेणी का लेख है। इस लेख में प्रयुक्त सामग्री, जैसे कि तथ्य, आँकड़े, विचार, चित्र आदि का, संपूर्ण उत्तरदायित्व इस लेख के लेखक/लेखकों का है भारतकोश का नहीं।
एक लड़की सोचती है -रोहित ठाकुर
रोहित ठाकुर
पूरा नाम रोहित ठाकुर
जन्म 6 दिसंबर, 1978
शिक्षा परा-स्नातक (राजनीति विज्ञान)
नागरिकता भारतीय
वृत्ति सिविल सेवा परीक्षा हेतु शिक्षण
सम्पर्क जयंती-प्रकाश बिल्डिंग, काली मंदिर रोड, संजय गांधी नगर, कंकड़बाग, पटना-800020, बिहार
अद्यतन‎
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची
रोहित ठाकुर की रचनाएँ

एक लड़की सोचती है
दुनिया इस लिये बदरंग है
क्योंकि उसके लाल
नीले और गुलाबी रंग की
रीबन खो गयी है
एक लड़की सोचती है
माँ के माथे की बिंदी
के खो जाने से
सूरज कम लाल उगता है
एक लड़की सोचती है
उसके फ्राॅक पर टंके सितारों
के टूटकर गिरने से
उसके पिता की हँसी खो जाती है
एक लड़की सोचती है
रोटी के बारे में
और चाँद के साथ
आँख मिचौली खेलती है ।।

पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख