भारतकोश के संस्थापक/संपादक के फ़ेसबुक लाइव के लिए यहाँ क्लिक करें।

ऑपरेशन कैक्टस  

ऑपरेशन कैक्टस (अंग्रेज़ी: Operation Cactus) भारतीय सेना द्वारा नवम्बर, 1988 में संचालित किया गया था। भारतीय नौसेना भी इस अभियान में सम्मिलित थी। इस अभियान के तहत तमिल उग्रवादियों का दमन किया गया।

  • नवंबर 1988 में 'तमिल इलम के पीपुल्स लिबरेशन ऑर्गेनाइजेशन' (प्लोटे) तमिल उग्रवादियों ने मालदीव पर हमला किया। भारतीय ख़ुफ़िया एजेंसी रॉ की सूचना पर और उसकी मदद से भारतीय सशस्त्र बल ने उन्हें वहां से खदेड़ने के लिए एक सैन्य अभियान की शुरुआत की।[1]
  • 3 नवंबर, 1988 की रात को भारतीय वायुसेना की आगरा पैरासूट रेजीमेंट की छठी बटालियन ने मालदीव से 2000 किलोमीटर की ऊंचाई पर उड़ान भरी। इस टुकड़ी ने हुलहुल में लैंड किया और माले में घंटे भर के भीतर तब के राष्ट्रपति मौमून अब्दुल गयूम की सरकार को बहाल कर दिया। इस अभियान को 'ऑपरेशन कैक्टस' नाम दिया गया, जिसमें भारतीय नौसेना भी शामिल थी।
  • सेना की ओर से किए गए इस तीव्र अभियान और रॉ की सटीक ख़ुफ़िया जानकारी के जरिए उग्रवादियों का दमन किया जा सका।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भारत की खुफिया एजेंसी रॉ से जुड़ी पांच दिलचस्प बातें (हिंदी) m.dailyhunt.in। अभिगमन तिथि: 15 जनवरी, 2017।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=ऑपरेशन_कैक्टस&oldid=581921" से लिया गया