भारतकोश के संस्थापक/संपादक के फ़ेसबुक लाइव के लिए यहाँ क्लिक करें।

कार्टोसैट-2ए उपग्रह  

कार्टोसैट-2ए भारतीय सुदूर संवेदी उपग्रह शृंखला (आईआरएस) में तेरहवाँ उपग्रह है। यह एक परिष्कृत एवं मजबूत सुदूर संवेदी उपग्रह है, जो दृश्य विशिष्ट स्थल प्रतिबिंब प्रदान करता है। इस उपग्रह में एक सार्ववर्णी कैमरा (पैन) है। इस कैमरे का स्थानिक विभेदन एक मी. से बेहतर है और प्रमार्ज 9.6 कि.मी. है। इस उपग्रह के चित्रों का उपयोग मानचित्र संबंधी अनुप्रयोगों, जैसे कि मानचित्रण, नगरीय एवं ग्रामीण मूलभूत अवसंरचना विकास एवं प्रबंधन और साथ ही साथ, भूमि सूचना प्रणाली (एलआईएस) एवं भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) में किया जाता है।

मिशन सुदूर संवेदन
भार 690 कि.ग्रा. (उत्थापन पर भार)
ऑनबोर्ड कक्षा 900 वॉट
स्थिरीकरण उच्च टॉर्क अभिक्रिया चक्र, चुंबकीय टॉर्कित्र और हाइड्रोजन थ्रस्टरों का उपयोग करते हुए स्थिरीकृत 3-अक्षीय पिंड
नीतभार सार्ववर्णी कैमरा
प्रमोचन दिनांक 28 अप्रैल, 2008
प्रमोचन स्थल शार केंद्र, श्रीहरिकोटा, भारत
प्रमोचन यान पीएसएलवी-सी9
कक्षा 635 कि.मी., ध्रुवीय सूर्य तुल्यकाली
आनति 97.94 डिग्री
मिशन कालावधि 5 वर्ष


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कार्टोसैट-2ए_उपग्रह&oldid=349056" से लिया गया