छुई-मुई

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें

छुई-मुई एक प्रचलित लोकोक्ति अथवा हिन्दी मुहावरा है।

अर्थ-

  1. अत्यंत कोमल।
  2. अत्यंत लज्जाशील।

प्रयोग- मैं वीर पत्नी हूँ, समझकर बढ़ना। छुई-मुई नहीं हूँ कि तुम्हारे उँगली उठाने से मुरझा जाऊँ।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

कहावत लोकोक्ति मुहावरे वर्णमाला क्रमानुसार खोजें

                              अं                                                                                              क्ष    त्र    श्र