जान देना  

जान देना एक प्रचलित लोकोक्ति अथवा हिन्दी मुहावरा है।

अर्थ-

  1. प्राण देना।
  2. इतना मैं जानती हूँ यह फड़फड़ाए चाहे जितना, जान नहीं देगा ।
  3. जान निछावर करना।
  4. मुग्ध होना।
  5. किसी वस्तु की प्राप्ति के लिए बहुत अधिक विकल होना।

प्रयोग-

  1. हम जान दे देंगे मगर बेग़ैरती बर्दाश्त नहीं करेगें।-यशपाल
  2. बहुत अधिक परिश्रम करना।
  3. सदा आतिथ्य-सत्कार और मर्यादा-रक्षा पर जाने देते रहे।-प्रेमचंद
  4. मैं तो ख़ुद शर्म और हया, इज्जत और सादगी पर जान देता हुँ।-भूषण वनमाली
  5. तुम फिटन और घोड़े, कुरसी और मेज़ आइने और तस्वीरों पर जान देते हो।
  6. वह तो रुपए-पैसे के लिए जान देता है।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

कहावत लोकोक्ति मुहावरे वर्णमाला क्रमानुसार खोजें

                              अं                                                                                              क्ष    त्र    श्र

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=जान_देना&oldid=625954" से लिया गया