पत्तनम  

  • दक्षिण भारत में स्थित केरल के एर्नाकुलम ज़िले में पत्तनम नामक गाँव स्थित है।
  • उत्खनन में यहाँ से मिट्टी के जार के टुकड़े मिले हैं, जिनके बारे में अनुमान है कि ये प्रसिद्ध इतालवी सुराही शिल्पकला के नमूने हैं।
  • क़रीब 2000 साल पहले ऐसी सुराहियों में रोमन लोग शराब और जैतून का तेल रखा करते थे।
  • वर्ष 2003-2004 में केरल इतिहास व अनुसंधान परिषद् और इंस्टीट्यूट ऑफ़ हेरिटेज के नेतृत्व की यह पुरातात्विक खोज भारत के पश्चिमी तट के नगरों का सबूत उपलब्ध कराती है।
  • इस खोज से मालाबार तट के पास पहली सदी के विख्यात नदी बंदरगाह मुजरिस के पेरियार नदी के किनारे कोडुंगालुर में स्थित होने की अवधारणा को चुनौती मिलती है।
  • मुजरिस से यूनानी रोमन व्यापारियों के काली मिर्च और दालचीनी के व्यापार का ज़िक्र रोमन नौ सैनिक अधिकारी प्लिनी द एल्डर, अलेक्जेंड्रिया के भूगोलविद् टॉलेमी के दस्तावेजों के साथ-साथ तमिल संगम साहित्य में भी मिलता है।
  • इस स्थल की खुदाई के दौरान बहुमूल्य नग इत्यादि मिले हैं।
  • रोमन जार लाल-काली मिट्टी से ई.पू. पहली सदी से 78 ई.तक बनते थे।
  • विसुवियत पर्वत से लावा निकलने के बाद ये कभी नहीं बने।
  • ऐसा माना जाता है कि ये बर्तन खाड़ी देशों से भारत पहुँचे होंगे,जो पहली बार भारत में पत्तनम में पाये गए हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=पत्तनम&oldid=224751" से लिया गया