भारतकोश के संस्थापक/संपादक के फ़ेसबुक लाइव के लिए यहाँ क्लिक करें।

ओशनसैट-2 उपग्रह  

ओशनसैट-2 उपग्रह बृहत प्रणाली ने अपनी विरासत पिछले आईआरएस मिशनों से प्राप्त की है और 23 सितंबर, 2009 को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र, श्रीहरिकोटा से पीएसएलवी -सी 14 द्वारा इसका प्रमोचन हुआ। यह तीन नीतभार वहन करता है-

  1. समुद्री कलर मॉनीटर (ओसीएम)
  2. इसरो (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन) द्वारा विकसित के.यू-बैंड पेंसिल किरण प्रकीर्णमापी (स्कैट)
  3. इतालवी अंतरिक्ष एजेंसी द्वारा विकसित वायुमंडल के लिए रेडियो उपगूहन ध्वनित्र (रोसा)।

ओशनसैट-2 की परिकल्पना, वर्धित अनुप्रयोग क्षमता के साथ ओशनसैट-1 (आईआरएस-पी4) की परिचालन सेवाओं की निरंतरता प्रदान करने के लिए की गई है।

प्रमोचन दिनांक 23 सितंबर, 2009
प्रमोचन स्थल शार, श्रीहरिकोटा, भारत
प्रमोचन यान पीएसएलवी-सी14
कक्षा ध्रुवीय सूर्य तुल्यकाली
तुंगता 720 कि.मी.
आनति 98.28°
अवधि 99.31मिनट
भूमध्य रेखा को पार करने का स्थानीय समय 12 मध्याह्न ± 10 मिनट
पुनरावृत्ति चक्र 2 दिन
नीतभार ओसीएम, स्कैट और रोसा
उत्थापन के समय द्रव्यमान 960 कि.ग्रा.
पॉवर 1360 वॉट जनित करने वाले 15 वर्ग.मी. सौर पैनल, दो 24 ए.एच निकल-कैडमियम बैटरियाँ
मिशन की कालावधि 5 वर्ष


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=ओशनसैट-2_उपग्रह&oldid=287860" से लिया गया